Jain Tirthankara  

Logo 1 Logo 2

  HomeNamokar MantraJain Dharma TirthankaraPilgrimageOrganizationFestival   LiteratureAhimsaNews

Home> Dig.Samaj News>>
 Digambar Jain News in Hindi 2014
 ( हिन्दी समाचार- 2014)
 News -2013 (Hindi)
News -2012 (Hindi)
 News -2011 (Hindi)
 News -2010 (Hindi)
    

 श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर से बदमाशों ने चुराई अष्टधातु की मूर्ति

 भोपाल., September 6, 2014: नारायण नगर स्थित श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में घुसकर बदमाशों ने  भगवान दिनाथ की अष्टधातु की मूर्ति चुरा ली। वारदात के लिए बदमाश 12 फीट की ऊंचाई पर लगे रोशनदान की रॉड काटकर दाखिल हुए थे।

मंदिर समिति के अध्यक्ष राजेश जैन ने बताया कि गुरुवार रात करीब 12 बजे तक वे समिति के अन्य सदस्यों के साथ मंदिर प्रांगण में ही थे। इसके बाद सब घर चले गए।

मूर्ति और चांदी के छह छत्र गायब: *सुबह पांच बजे जब वे पहुंचे तो मंदिर में रखी भगवान आदिनाथ की मूर्ति और चांदी के छह छत्र गायब थे। इसकी सूचना उन्होंने मंदिर समिति के सदस्यों और बागसेवनिया पुलिस को दी। राजेश के मुताबिक चोरी गई मूर्ति और छत्रों की कीमत करीब तीन लाख रुपए है। हालांकि, अंतरराष्ट्रीय   बाजार में इनकी कीमत ज्यादा होना  बताई जा रही है। Source: bhaskar.com 

दिगम्बर जैन मंदिर से 11 मूर्तियां व कलश चोरी

खानपुर/सारोला, April 17, 2014। सारोलाकलां के झण्डा बाजार स्थित दिगम्बर जैन मंदिर से शुक्रवार रात अज्ञात जने अष्टधातु की 11 मूर्तियां व इतने ही कलश चुरा ले गए। साथ ही चांदी के छत्र व दानपेटी तोड़कर नकदी भी ले गए। शनिवार सुबह सूचना मिलने पर पुलिस उपाधीक्षक भोपाल सिंह लाखावत व थानाधिकारी मौके पर पहुंचे तथा मौका मुआयना किया।

जैन समाज के पदाधिकारी प्रकाशचंद जैन ने बताया कि शुक्रवार रात को कुछ लोगों ने मंदिर के दरवाजे का ताला तोड़कर अंदर प्रवेश किया। वहां प्रथम वेदी पर स्थित चौबीसी भगवान की एक मूर्ति, भागवान पार्श्वनाथ की 6, सिद्ध भगवान की एक, अरिहंत भगवान की 3 मूर्तियों सहित एक चौमुखी चुरा ले गए। ये अष्टधातु की छोटी मूर्तियां थी जो अधिकतम 6 इंच ऊंची थी।

इसके अलावा तीन सिंहासन, वेदियों के शिखर पर लगे 10 कलश, सोने की परत के दो बड़े कलश, आभामंडल, चंादी के 3 चंवर व 10 छोटे-बडे छत्र तथा दानपेटी का ताला खोलकर नकदी चुरा ले गए । यह दानपेटी छह माह से नहीं खोली गई थी। इसमें 20 से 25 हजार रूपए होने का अनुमान है। कुल मिलाकर चोर करीब दो लाख का सामान ले गए। वारदात का पता सुबह चला जब चौकीदार मंदिर की सफाई के लिए पहुंचा। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। Source: Rajasthan Patrika


 खुदाई के दौरान प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ की डेढ़ हजार साल पुरानी प्रतिमा मिली

  
  Lord Adinath idol enearthed

    Rewari, January 9, 2014: मोहल्ला मंढई में जैन मंदिर बनाने के लिए चल रही खुदाई के दौरान प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ की एक प्राचीन काले पाषाण पर उकेरी गई तीन फुट ऊंची प्रतिमा मिली है।
काम में जुटे श्रद्धालुओं को खुदाई के दौरान प्राचीन महत्व की चीजें मिलने की थोड़ी सी भी उम्मीद नहीं थी। यही वजह थी कि मंगलवार रात जेसीबी मशीन से चली खुदाई के दौरान मजदूरों ने मलबे के साथ ही इस प्रतिमा को ट्रैक्टर में लाद दिया और कई किलोमीटर दूर मलबे के साथ डाल दिया। मलबा पलटते समय प्रतिमा ऊपर आ गिरी तो मजदूरों ने जैन समाज के पदाधिकारियों को सूचित किया। बाद में प्रतिमा को प्राचीन मंदिर के निकट बनाए गए मंदिर में रखा गया। प्रतिमा मिलने का समाचार जैसे ही समाज के लोगों को मिला तो सुबह से ही सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु भगवान के दर्शन के लिए मंदिर पहुंच गए।
इस प्रतिमा को अति प्राचीन और लगभग डेढ़ हजार वर्ष पूर्व कि बताया जा रहा है। मंदिर प्रबंधन समिति के प्रधान वीरेंद्र कुमार जैन ने बताया कि संभवत: सैकड़ों वर्ष पूर्व आक्रमणकारियों से बचाने के लिए इस भव्य प्रतिमा को भूगर्भ में रख दिया गया होगा। प्रतिमा के परीक्षण के लिए बाहर से जैन विद्वानों को बुलाया जा रहा है।

                          

[Namokar Mantra] [Dig.Jain Tirhankaras ] [Jain Pilgrimage ] [ Organizations ] [ Festivals ] [ Literature ] [Ahimsa ][ News ]  [ Railways ] [ Airways ] [ Weather ] [ Contact Us ] [ Advertise ] [ About Us ] [ Disclaimer ]  

Copyright ã 2003, Digambarjainonline.com All Rights Reserved.